जलवायु का वर्गीकरण

अनुक्रम [छुपाएँ]


तापमान और वर्षा जलवायु के प्रमुख निर्धारक तत्व या कारक हैं । इन दोनों का आपस में संबंध होता है । अधिक तापमान वाले जलीय क्षेत्रों में वर्षा अधिक होती है:- जैसे महासागरीय क्षेत्रों में । क्योंकि तापमान जलीय क्षेत्रो से ही वाष्प ग्रहण करती है । मरूस्थलीय भागों में अधिक तापमान के बाद भी जल नहीं होने के कारण जलवाष्प बन नहीं पाता । हवाए तेज गर्म लेकिन शुष्क होती है। स्पष्ट है कि तापमान जलवायु का प्रमुख घटक है ।

यह जानना हमारे लिए जरूरी है कि पृथ्वी को प्रमुख कितने ताप कटिबंधों (क्षेत्रों) में बॉंटा जा सकता है । विद्वानों ने पृथ्वी पर सूर्य की किरणों से बनने वाले कोणों के आधार पर ताप कटिबंधों का निर्धारण किया है । सूर्य की किरणें यदि किसी स्थान पर कम दूरी तय करती है, तो तापमान अधिक होगा और जैसे-जैसे किरणों की धरातल से दूरी बढ़ती जाती है, तापमान भी कम होता जाता है । सूर्य-किरणों की दूरी तापमान का निर्धारण करती हे। इसी आधार पर पृथ्वी को पॉंच ताप कटिबंधों में बॉंटा गया हैं।
पॉंच ताप कटिबंधों के नाम है :-
  1. उष्ण कटिबंध
  2. उत्तरी शीतोष्ण कटिबंध
  3. दक्षिणी शीतोष्ण कटिबंध
  4. उत्तरी शीत कटिबंध
  5. दक्षिणी शीत कटिबंध
ताप कटिबंध

उष्ण कटिबंध -

उष्ण कटिबंध भूमध्य रेखा के 23 1/20 उत्तर से 23 1/20 दक्षिण अक्षांशों के मध्य स्थित हैं । इस ताप कटिबंध मं प्राय: वर्ष भर सूर्य की किरणें लंबवत् पड़ती है। 21 मार्च और 23 सितम्बर के दिन को मध्यान्ह कालीन सूर्य भूमध्यरेखा के ठीक ऊपर होता है । 21 जून को कर्क रेखा तथा 22 दिसम्बर को मकर रेखा के ठीक ऊपर लंबवत् पड़ता है भूमध्य रेखा पर दिन-रात की अवधि बराबर होती है।

शीतोष्ण कटिबंध -

शीतोष्ण कटिबंध उष्ण कटिबंध के दोनो ओर स्थित हैं। उत्तरी गोलार्ध में 23 1/20 उत्तरी अक्षांश से 66 1/30 उत्तरी अक्षांश तथा दक्षिणी गोलार्ध में 23 1/20 दक्षिणी अक्षांश से 66 1/20 दक्षिणी अक्षांश के बीच स्थित है । जब उत्तरी गोलार्ध में ग्रीष्म ऋतु होती है, तो दक्षिणी गोलार्ध में शीत ऋतु होती है।

शीत कटिबंध  -

शीतोष्ण कटिबंध के समान ही शीत कटिबंध भी दोनों गोलार्धो मे है उत्तरी शीत कटिबंध 66 1/20 उत्तरी अक्षांश से उत्तरी ध्रुव (900 अक्षाशं) तक स्थित है। तथा दक्षिणी शीत कटिबंध 66 1/20 दक्षिणी अक्षांश से दक्षिणी ध्रुव (900 द. अक्षांश) तक विस्तृत हैं शीत कटिबंध में हमेशा सूर्य की किरणें तिरछी पड़ती है ध्रुवो पर ग्रीष्म ऋतु में 6 माह का दिन शीतऋतु में 6 माह की रात होती है यह कटिबंध संसार का सर्वाधिक ठंडा प्रदेश है यहॉं धरातल पर सदैव बर्फ की मोटी परत जमी रहती हैं

Comments