आधुनिक युग का प्रारंभ

पंद्रहवीं सदी के उत्तरार्ध और सोलहवीं सदी के पूर्वार्द्ध से यूरोप में आधुनिक युग का प्रारंभ होता है। इस काल के बाद यूरोप में महत्वपूर्ण और युगांतरकारी घटनाएं हुर्इ। मध्ययुग में यूरोप में जीवन का मूल आधार था - धर्म का प्रभुत्व और अपरिवर्तनशीलता, पर आधुनिक युग में जीवन का मूलतंत्र हो गया- स्पंदन, चैतन्यता, विकास और निरंतर प्रगति।

यूरोप के इतिहास में आधुनिक युग का प्रारंभ किसी निश्चित तिथि द्वारा किये जाने के संबंध में विद्वानों में पर्याप्त मतभेद है। किन्तु अधिकांश विद्वान इसकी तिथि 1453 र्इ. स्वीकार करते हैं। इसका कारण यह है कि इसी वर्ष तुर्कों ने रोमन साम्राज्य की राजधानी कुस्तुनतुनिया पर विजय प्राप्त करके शताब्दियों से चले आ रहे वैभवपूर्ण रोमन साम्राज्य का अंत कर डाला था। इसी वर्ष से यूरोप की भूमि पर सांस्कृतिक पुनर्जागरण का प्रसार होने तथा भौगोलिक ज्ञान की बुद्धि के लिए प्रयास किये जाने लगे और आधुनिक सभ्यता के विकास, औपनिवेि शक विस्तार, बड़े-बड़े नगरों की स्थापना, निरकुंश शासकों की साम्राज्यवादी आकांक्षा का उदय तथा नवीन अनुसंधानों और आविष्कारों आदि विभिन्न पक्र ार की प्रवृित्त्ायों का जन्म होकर उनका दु्रतगति से प्रसार होने लगा।

आधुनिक युग आधुनिक युग की प्रमुख विशेषता राष्ट्रीयता के प्रसार के रूप में प्रकट हुर्इ। मध्यकाल में जनता के विचार केवल अपने राज्य की सीमा तक ही सीमित थे। अब उनकी विचारधारा देश और राज्य की सीमा को पार करके अंतर्राश्ट्रीयता का रूप धारण करने लगी। विभिन्न राज्यों और भिन्न-भिन्न देशों में संपर्क बनाने के लिए बैंको, अंतर्राश्ट्रीय कानूनों और व्यापारिक संघों की स्थापना की जाने लगी। इसी दिशा में आगे चलकर उपनिवशे ाां े की स्थापना की गर्इ ओर औपनिवेशिक साम्राज्य का विकास हुआ।

Bandey

मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता (MSW Passout 2014 MGCGVV University) चित्रकूट, भारत से ब्लॉगर हूं।

6 Comments

Previous Post Next Post