Posts

घाटे की वित्त-व्यवस्था का अर्थ, औचित्य एवं प्रभाव
वर्तमान शताब्दी के प्रथम चतुर्थांश तक सन्तुलित और अतिरेक का बजट आदर्श बजट माना जाता था। परन्तु आधुनिक अर्थव्…

13वें वित्त आयोग की स्थापना, उद्देश्य एवं कार्य
इसमें हम 13वें वित्त आयोग की स्थापना , उद्देश्य एवं कार्यों का अवलोकन करने के साथ ही 13वें वित्त वित्त आयोग …

सार्वजनिक ऋण क्या है?
सरकार जब सार्वजनिक व्यय सम्बन्धी आवश्यकता की पूर्ति करारोपण के द्वारा नहीं कर पाती है। (क्योंकि लोगों में एक…

परम्परागत बजटिंग क्या है?
सामान्यत: दी जाने वाली सार्वजनिक बजटिंग की अवधारणा को परम्परागत बजटिंग से ही सम्बन्धित किया जाता रहा है। आपक…

कर विवर्तन की अवधारणा, सिद्धान्त एवं प्रकार
कर विवर्तन की अवधारणा मुख्य रूप से कराघात एवं करापात के मध्य अन्तर से सम्बन्धित है। सामान्य रूप से कर विवर्त…

करापात की अवधारणा, परिभाषा एवं रूप
करापात की अवधारणा को स्पष्ट करने के साथ विभिन्न अर्थशास्त्रियों द्वारा दी गयी करारोपण की परिभाषाओं को भी समझ…

करारोपण का प्रभाव
करारोपण के प्रभाव एक दिशीय न होकर बहुदिशीय पाये जाते हैं जो किसी भी अर्थव्यवस्था को विभिन्न रूपों में परवर्त…