रोजगार कार्यालय क्या है? इसकी पंजीयन की प्रक्रिया

By Bandey No comments
हमारे देश में रोजगार कार्यालयो की स्थापना सरकार ने की है। इनके माध्यम से रोजगार की खोज करने वाले एवं रोजगार प्रदाताओं को एक दूसरे से मिलाया जाता है। रोजगार कार्यालय उन लोगों की सूची तैयार करता है जो नौकरी करना चाहते हैं तथा उनकी योग्यतानुसार नौकरी के विभिन्न वर्गों के लिये उनके नामों का पंजीकरण करता है। जब भी नियोक्ता भर्ती के लिए रोजगार कार्यालय से संपर्क करते हैं तो यह कार्यालय सूची में से प्रत्याशियों को छांट कर उन्हें इन रिक्त पदो की सूचना देता है जिससे कि वह संबंधित नियोक्ता से सम्पर्क कर सकें।

रोजगार कार्यालयों की भूमिका

रोजगार कार्यालय का मूल उद्देश्य रोजगार की तलाश में लगे लोगों को नियमित पदो या स्वरोजगार के माध्यम से रोजगार दिलाना है। इस तरह ये कार्यों को सम्पादित करते है:-

  1. नौकरी की तलाश करने वालों का पंजीयन एवं नियुक्ति करना जिससे कि श्रम की मांग एवं पूर्ति में उचित संतुलन सुनिश्चिज़त किया जात सके।
  2. त्रैमासिक अवधि केआ अनुसार रोजगार बाजार के संबद्ध मे व्यापक सूचना जुटाना यह श्रम की मांग एवं पूर्ति के प्रभावी प्रबन्धन के लिए उपयोगी डेटाबेस का निर्माण करता है।
  3. जीविका के लिए सलाह एवं व्यवसाय संबन्धी मार्गदर्शन देना इसका उद्देश्य नौकरी की तलाश करने वालों को प्रभावपूर्ण मार्गदर्शन देना है।
  4. क्षेत्र विशेष मे विशिष्ट अध्ययन एवं सर्वेक्षण कराना यह कार्य उपलब्ध कौशल एवं विपणन योग्य कौशल के आकलन के लिए किया जाता है इससे नौकरी के इच्छुक लोग स्वरोजगार हेतु प्रोत्साहित होते हैं विशेष रूप से ग्रामीण असंगठित क्षेत्र में।
  5. नौकरी के इच्छुक कुछ विशिष्ट वर्गो के लोगो को बेंरोजगार भत्त्ो के वितरण की व्यवस्था करना। यह कार्य कुछ राज्य सरकारों द्वारा लिये गये निर्णय के अनुसार रोजगार कार्यालयों के माध्यम से कराया जाता है।
READ MORE  ब्रांड (brand) का अर्थ, परिभाषा, प्रकार एवं विशेषताएँ

नौकरी के इच्छुक लोगों की सहायता के लिये राज्य सरकारों द्वारा संचालित 940 से भी अधिक रोजगार कार्यालय हैं। ये हैं राज्य रोजगार कार्यालय, जिला रोजगार कार्यालय, ग्रामीण रोजगार ब्यूरो, विश्वविद्यालय रोजगार सूचना एवं मार्गदर्शन ब्यूरो आदि रोजगार कार्यालय, रोजगार एवं प्रशिक्षण महानिदेशक Directorate General of Employment and Training द्वारा नियन्त्रित होते हैं।

पंजीयन की प्रक्रिया

  1. प्रत्याशी किसी भी कार्य दिवस को दफ्तर के समय में अपने क्षेत्र के रोजगार कार्यालय जाकर वहाँ से पंजीयन के लिए एक खाली कार्ड प्राप्त कर सकता है। इस कार्ड में अपना नाम, पिता का नाम, जन्म तिथि, घर का पता, शैक्षिक योग्यता, साधारण वर्ग का है या अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति का, एन.सी.ओ कोड नंबर (NCO, Code No.) वाछित कार्य, स्थान जहां वह कार्य करने के लिए इच्छुक है, अनुमानित वेतन, कार्य का अनुभव तथा अन्य संबंधित सूचना भरता है
  2. इस कार्ड के साथ वह जन्म तिथि का प्रमाण पत्र, शैक्षिक योग्यता के प्रमाण पत्र,अनुभव का प्रमाण पत्र, घर के पते का प्रमाण जैसे कि ड्राइविंग लाइसैंस, वोटर पहचान पत्र, पैन कार्ड, पासपोर्ट, राशनकार्ड की फोटोकापी नत्थी करता है। प्रत्याशी इन सभी प्रमाण पत्रों/प्रलेखों की मूलप्रति तथा उपरोक्त प्रलेखों की फोटोकापी लाते हैं। सभी फोटोकापी रोजगार कार्यालय में रख ली जाती है।
  3. कार्ड को भरने तथा पत्रों की प्रतिलिपि नत्थी करने के पश्चात् आप इन प्रपत्रों को लेकर अपने प्रमाण पत्रों की मूलप्रतियों के साथ रोजगार अधिकारी से मिलेंगे। वह प्रतिलिपियों की जांचकर और उनको सत्यापित कर मूल प्रमाणपत्रों को आपको लौटा देगा।
  4. इस सत्यापित कार्ड को रोजगार कार्यालय में अभिलेखन के लिये रख लिया जायेगा तथा इसी के आधार पर नौकरी के संबन्ध में सूचित किया जाता है। प्रत्याशी को एक पंजीयन कार्ड दिया जायेंगे। जिस पर पद का कोड नम्बर छब्व्, पंजीयन की तिथि तथा नमूने के हस्ताक्षर होते हैं। इस कार्ड का प्रत्येक तीन वर्ष के पश्चात नवीनीकरण कराना होगा।
READ MORE  हठयोग क्या है?

जब भी रोजगार कार्यालय से आप पत्र व्यवहार करेंगे, तो आपको अपने पंजीयन नम्बर का उल्लेख करना होगा। सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के मुताबिक रिक्त पदों का विज्ञापन निकालना अनिवार्य है। अत: अब रोजगार कार्यालयो की भूमिका का कोई महत्व अब नहीं रहा गया है और उसकी भूि मका निम्न स्तर के पदो तक ही सीमित रह गयी है।

रोजगार कार्यालय के माध्यम से उपलब्ध नौकरियो के प्रकार

रोजगार कार्यालय पंजीकृत आवेदको के लिए कुछ पदों के लिए सूचना प्रेषित करते हैं-

  1. आया मीटर रीडर
  2. नाई मोटर मैकेनिक
  3. बुकिंग क्लर्क नर्स
  4. केयर टेकर कार्यालय सहायक
  5. बढ़ई आपरेशन थियेटर टैक्नीशियन
  6. डाटा एन्ट्री आपरेटर चपरासी
  7. डाक्टर फार्मासिस्ट
  8. इलैक्ट्रीशियन फिजियो थैरापिस्ट
  9. प्रशिक्षक (स्टैनो/स्टैनो टाइपिस्ट) प्लम्बर
  10. पत्रकार प्रोग्रामर (कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर)
  11. प्रयोगशाला सहायक स्वागति (रिसेप्शनिस्ट)
  12. प्रयोगशाला अटैन्डैन्ट सफाई कर्मचारी
  13. प्रयोगशाला तकनीशियन बिक्री कर्ता
  14. लिफ्ट परिचालक (ऑपरेटर) सफाई निरीक्षक,
  15. माली सुरक्षा गार्ड
  16. संदेश वाहक स्टैनोग्राफर
  17. एक्सरे टैक्नीशियन टाइपिस्ट अध्यापक (सहायता प्राप्त एवं प्राथमिक ट्रैवल एजेन्ट विद्यालय)
  18. अनुवादक टेली फाने ऑपरेटर
| Home |

Leave a Reply