अंतर्राष्‍ट्रीयता की अवधारणा एवं विशेषताएं

By Bandey No comments

जब दो या दो से अधिक व्यक्ति क्षेत्र, जाति, लिंग, धर्म, संस्कृति, व्यवसाय अथवा अन्य किसी आधार पर ‘हम’ की भावना से बंधे रहेते हैं तो इसे भावात्मक […]

समाज का शिक्षा पर प्रभाव

By Bandey No comments

शिक्षा पर समाज के प्रभाव को नकारा नहीं जा सकता है, क्योंकि समाज शिक्षा की व्यवस्था करता है। इस प्रभाव को जा सकता है- समाज के स्वरूप का […]

शिक्षा का समाज पर प्रभाव एवं स्थान

By Bandey No comments

शिक्षा का समाज पर प्रभाव समाज शिक्षा के प्रत्येक पक्ष को प्रभावित करता है तो ठीक उसी प्रकार शिक्षा भी समाज को प्रत्येक पक्ष पर प्रभावित करती है, […]

जनतंत्र का अर्थ, परिभाषा एवं उद्देश्य

By Bandey No comments

आधुनिक युग जनतंत्र व्यवस्था का युग है। जनतांत्रिक शासन व्यवस्था सर्वश्रेष्ठ मानी जाती है। वर्तमान जनतंत्र साम्राज्यवादी प्रशासन के पश्चात् आया जबकि सम्पूर्ण विश्व औद्योगिक एवं भूमण्डलीकरण के […]

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के कार्य और शक्तियां

By Bandey No comments

संयुक्त राष्ट्रसंघ का सबसे महत्वपूर्ण उद्देश्य विश्व शांति और सुरक्षा को बनाये रखना है। उन महान् दायित्व की पूर्ति के साधन के रूप में सुरक्षा परिषद् की स्थापना […]