जैव विकास के सिद्धांत एवं प्रमाण

By Bandey 3 comments

जैव विकास- भूवैज्ञानिक काल के दौरान सरल प्रकार के पूर्वजों से ‘‘परिवर्तन’’ के फलस्वरूप जटिल जीवों का बनना विकास कहलाता है। जैव विकास के सिद्धांत  आज के विभिन्न […]

विश्व व्यवस्था का अर्थ

By Bandey No comments

विश्व व्यवस्था का अर्थ क्रम’ या व्यवस्था से सभी वस्तुओं के उचित स्थान पर होने का संकेत मिलता है। यह नियमों को लागू करने और उनका सम्मान करने […]

राजनीतिक दल का अर्थ

By Bandey No comments

प्रत्येक लाकेतांत्रिक समाज तथा सत्तावादी व्यवस्था में राजनीतिक दल होते है। एक राजनीतिक में राजनीतिक दल होते है। एक राजनीतिक व्यवस्था में राजनीतिक दल विचारो अभिमतो व्यवस्था में […]

भारत में चुनाव प्रक्रिया

By Bandey 1 comment

निर्वाचन प्रक्रिया से तात्पर्य संविधान में वर्णित अवधि के पश्चात पदो एवं संस्थाओ के लिए होने वाले निर्वाचनों की प्रारभं से अंत तक की प्रक्रिया से है। निर्वाचन […]

मुख्यमंत्री के कार्य

By Bandey No comments

मुख्यमंत्री प्रत्येक राज्य में राज्यपाल के दायित्व निवर्हन मे सहयोग और सहायता के लिए, एक मंत्रिपरिषद् होती है। मुख्यमंत्री राज्य में सरकार का मूखिया होता है। मुख्यमंत्री के […]