व्यावसायिक वित्त क्या है?

By Bandey No comments

व्यक्ति जीविकापोर्जन के लिए कोई न कोई कार्य करता हैं कोई वस्तुओं का लेनदेन करता है तो कोई अपनी कला के माध्यम से धन अर्जन करता है जैसे, डॉक्टर, वकील, इंजीनियर, आदि […]

मंत्रणा का अर्थ

By Bandey No comments

सामाजिक वैयक्तिक सेवा कार्य में मन्त्रणा कार्य का विकास सर्वप्रथम बेरथा रेयनोल्ड्स ने सन् 1932 0 में किया। सामाजिक संस्थाओं में कार्य करने का अनुभव जैसे-जैसे होता गया वैयक्तिक कार्यकर्ताओं में नये-नये […]

दूरस्थ शिक्षा का ऐतिहासिक विकास

By Bandey No comments

दूरस्थ शिक्षा का उद्भव  पत्राचार के रूप में दूरस्थ शिक्षा का इतिहास 1840 से मानी जाती है। आधुनिक नवीन प्रणाली का प्रारम्भिक रूप ‘‘ओल्ड टैसटामन’’ के अनुदेशनात्मक लेखों से मिलता है, इसके […]

प्रश्नावली का अर्थ, परिभाषा एवं प्रकार

By Bandey 12 comments

प्रश्नावली अध्ययन विषय से सम्बन्धित प्रश्नों का एक संरचित समूह है जिसमें सूचनायें संकलित करने के लिए वैकल्पिक प्रश्नों में कोश्ठक तथा लिखित उत्तरों के लिए खाली स्थान उपलब्ध रहता है। इस […]

शोध प्रारूप का अर्थ, परिभाषा, प्रकार एवं महत्व

By Bandey 3 comments

प्रस्तावित सामाजिक शोध की विस्तृत कार्य योजना अथवा शोधकार्य प्रारम्भ करने के पूर्वसम्पूर्ण शोध प्रक्रियाओं की एक स्पष्ट संरचना ‘शोध प्रारूप’ या ‘शोध अभिकल्प’ के रूप में जानी जाती है। शोध प्रारूप […]