आधुनिक आर्य भाषा एवं उनका वर्गीकरण

By Bandey No comments

आधुनिक आर्य भाषा आधुनिक भारतीय आर्यभाषाओं की प्रमुख विशेषताएँ हैं- 1. आधुनिक भारतीय आर्यभाषाओं में प्रमुखत: वही ध्वनियाँ हैं जो प्राकृत, अपभ्रंश आदि में थीं। किन्तु कुछ विशेषताएँ भी हैं-(क) पंजाबी आदि […]

Read More

भारतीय भाषा परिवार- द्रविड़, नाग

By Bandey No comments

पाँच से अधिक आर्य तथा अनार्य परिवारों की भाषाएँ देश में मिलती हैं। दक्खिन के साढ़े चार प्रांतों अर्थात् आंध्र, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडू और आधे सिंहल में सभ्य द्रविड़ भाषाएँ बोली जाती […]

Read More

अर्थ विज्ञान की अवधारणा और शब्द-अर्थ संबंध

By Bandey No comments

भाषा की लघुतम, स्वतंत्रत सार्थक इकाई शब्द है, इसलिए अर्थ-अध्ययन के समय शब्द पर विचार करना आवश्यक है। भतरृहरि ने शब्द के विषय में लिखा है कि संसार में ऐसा कोई ज्ञान […]

Read More

रूप परिवर्तन के कारण एवं दिशाएँ

By Bandey No comments

रूप परिवर्तन के कारण ‘रूप’ का सम्बन्ध ध्वनियों से है। अत: सामान्य तौर पर रूप-परिवर्तन और ध्वनि-परिवर्तन में विभाजक रेखा खींच पाना कठिन कार्य लगता है। किन्तु इन दोनों में वैज्ञानिक विभेद […]

Read More

शब्द की परिभाषा एवं शब्द के प्रकार

By Bandey 1 comment

ध्वनियों के मेल से बने सार्थक वर्णसमुदाय को ‘शब्द’ कहते हैं। शब्द अकेले और कभी दूसरे शब्दों के साथ मिलकर अपना अर्थ प्रकट करते हैं। इन्हें हम दो रूपों में पाते हैं-एक […]

Read More