Jainism

जैन धर्म के प्रमुख सिद्धांत

वर्द्धमान महावीर जैन-धर्म के चौबीसवें तीर्थङ्कर थे। जैन परम्परा के अनुसार प्रथम तीर्थङ्कर थे ऋषभदेव और तेईसवें थे पार्श्वनाथ। शेष तीर्थङ्करों के क्रमशः ये नाम मिलते है - अजितनाथ, सम्भवनाथ, अभिनन्दन, सुमतिनाथ, पद्यप्रभ, सुपार्श्वनाथ, चन्द्रप्रभ सुविधिन…

More posts
That is All