अलाउद्दीन खिलजी के आर्थिक सुधार

अलाउद्दीन खिलजी 19 जुलाई 1296 ई. में सुल्तान जलाउद्दीन खिलजी की हत्या कर स्वयं को सुल्तान घोषित किया। 22 अक्टूबर 1296 ई. में दिल्ली में बलबन के राजमहल में उसने अपना राज्याभिषेक करवाया तथा दिल्ली के सिंहासन पर बैठा। अलाउद्दीन दिल्ली का प्रथम सुल्तान था…

अवसरवादिता का अर्थ

अवसर से अभिप्राय है ‘मौके की तलाश' से हैं। मानक हिन्दी कोश के अनुसार, “मौके से फायदा उठाने की प्रवृत्ति" अतः उचित समय देखकर उस समय का फायदा उठाकर लाभ अर्जित करना अवसरवादिता कहलाता है । आज प्रत्येक व्यक्ति में अवसरवादिता की प्रवृत्ति किसी-न-कि…

हिन्दी कहानी : विकास के चरण

कहानी का आरंभ कब हुआ होगा यह कहना बड़ा कठिन है। संभवतः मनुष्य ने जब से भावनाओं को अभिव्यक्त करने की कला को सीखा होगा या उसने जब कभी बोलना सीखा होगा तभी से कहानी की शुरुवात हुई होगी। क्योंकि बोलना या अभिव्यक्त करना मनुष्य का सहज स्वभाव है। मनुष्य जब कभ…

अध्यक्षात्मक सरकार का अर्थ, परिभाषा, विशेषताएं, गुण एवं दोष

अध्यक्षात्मक शासन प्रणाली शक्तियों के पृथक्करण पर आधारित शासन प्रणाली है। इसमें कार्यपालिका और विधायिका में आपसी सम्बन्ध संसदीय शासन की तरह घनिष्ठ नहीं होते हैं। इसमें कार्यपालिका विधायिका के नियन्त्रण से मुक्त होती है और उसका कार्यकाल भी निश्चित होता…

पुरापाषाण काल का इतिहास

लुबाक ने सर्वप्रथम पाषाण युग के भिन्न-भिन्न कालों को विभाजित किया, इनके अनुसार प्रथम पुरापाषाण काल (Palaeolithic Age) तथा द्वितीय नवपाषाण काल (Nealithic Age) था। इन्होंने यह विभाजन पाषाण उपकरणों के प्रकार तथा तकनीकी विशेषताओं आधार पर किया। 1970 में ला…

व्यवस्थापिका का अर्थ, परिभाषा, कार्य व भूमिका

किसी देश या राज्य के शासन को सुचारु रूप से चलाने के लिए सरकार की आवश्यकता पड़ती है। सरकार ही वह यन्त्र होता है जो राज्य के उद्देश्यों या लक्ष्यों को अमली जामा पहनाता है। अपने उत्तरदायित्वों का वहन करने के लिए सरकार शासन कार्यों को अपने तीन अंगों में ब…

More posts
That is All