अभिक्रमित अनुदेशन का अर्थ, परिभाषा, विशेषताएँ एवं सिद्धान्त

By Bandey No comments

स्मिथ व मूरे (Smith and moore) के शब्दों में, अभिक्रमित अनुदेशन किसी अधिगम सामग्री को क्रमिक पदों की श्रृंखला में व्यवस्थित करने वाली एक क्रिया है, जिसके द्वारा छात्रों को उनकी परिचित पृष्ठभूमि से एक नवीन तथा जटिल प्रत्ययों, सिद्धांतों तथा अवबोधों की ओर ले जाया जाता है।’’ जेम्स. ई. एस्पिच तथा बिर्ल विलियम्स के […]