अनुप्रास अलंकार का अर्थ, परिभाषा भेद एवं उदाहरण

By Bandey No comments

अनुप्रास अलंकार अनुप्रास शब्दालंकारों में सबसे अधिक प्रचलित अलंकार है। ‘‘अनुप्रास शब्द अनु+प्र+अस्+घ´् के योग से निश्पन्न हुआ है जिसका शाब्दिक अर्थ है: समान ध्वनियों या वर्णों की आवृत्ति। वास्तव में इस अलंकार में वर्णनीय रस के अनुकूल व्यंजनों के क्रमिक विन्यास का ही विधान है। स्वरों की विषमता होने पर भी व्यंजनों की समता […]