उपमा अलंकार का अर्थ, परिभाषा और उदाहरण

By Bandey | | No comments

उपमा अलंकार सर्वप्रमुख अर्थालंकार है और अर्थालंकारों का प्रतिनिधि भी है। डॉ0 रामानन्द शर्मा के शब्दों में: ‘‘शब्दालंकारों में श्लेष और अर्थालंकारों में उपमा- ये दो ऐसे अलंकार है जो स्वयं अलंकार होकर अन्य अलंकारों को […]

यमक अलंकार का अर्थ, परिभाषा, और उदाहरण

By Bandey | | No comments

जहाँ किसी शब्द या वाक्यांश की कई बार आवृत्ति हो, किन्तु अर्थ की विभिन्नता हो, वहाँ यमक अलंकार होता है। शब्द की आवृत्ति होने पर अर्थ भिन्न होता है, अत: उसे सार्थक यमक कहा जाता है […]

श्लेष अलंकार क्या है? और इसके उदाहरण

By Bandey | | No comments

श्लेष अलंकार अत्यन्त प्रचलित अलंकार है। शब्दालंकारो में अनुप्रास और यमक के पश्चात् श्लेष का ही नाम आता है। डॉ0 रामानन्द शर्मा ने इसके स्वरूप पर व्यापक रूप में प्रकाश डाला है। वे कहते हैं: ‘‘साधारणत: […]

अलंकार के प्रकार

By Bandey | | 8 comments

अलंकार का शाब्दिक अर्थ ‘‘अलंकार’’ शब्द का शाब्दिक अर्थ होता है- आभूषण या सुन्दरता । जैसे आभूषण नारियों का श्रृंगार है, उसी प्रकार साहित्य में शब्दों और अर्थों में चमत्कार लाने वाले तत्व ‘अलंकार’ हैं। अलंकार […]