संत रैदास का जीवन परिचय

By Bandey No comments

संत किसी देश या जाति में नहीं, अपितु पूरे मानव समाज की अमूल्य संपत्ति होते हैं। हमारा दुर्भाग्य है कि हमारे देश के महापुरूष और संत अपने विषय में प्राय: मौन रहे। इससे उनकी गरिमा में सदैव वृद्धि ही हु। यह संसार क्षण भंगुर है, अत: तू माया मोह के जाल में मत फँस। यह […]