मिस्र की सभ्यता का इतिहास

By Bandey No comments

विश्व के विभिन्न भागों में नवपाषाण काल की समाप्ति पर विभिन्न कृषक बस्तियां धीरे-धीरे नगरों में परिवर्तित हो गई। परिवर्तन की इस प्रक्रिया को कुछ विद्धानों ने शहरी क्रांति का नाम दिया। प्रारंभिक शहरों का विकास […]

सुमेरियन सभ्यता का इतिहास

By Bandey No comments

मैसोपोटामिया की सभ्यता एवम् नगर राज्यों का विकास दजला एवम् फरात नदियों के मध्य क्षेत्र में विकसित हुआ। इस क्षेत्र में यह विकास नवपाषाण काल में प्रारंभ हुआ और मेसोपोटामिया के उतरी क्षेत्र में उतरी सीरिया […]

ईरानी सभ्यता का इतिहास

By Bandey No comments

लौह युग में फारस (आधुनिक इराक) में आर्य कबीले रहते थे। मीडिज नामक उनकी एक शाखा देश के पश्चिमी हिस्से में रहती थी। एक दूसरी शाखा दक्षिणी और पूर्वी हिस्से में रहती थी और फारसी कहलाती […]

रोमन सभ्यता का इतिहास

By Bandey No comments

प्राचीन धारणाओं के अनुसार रोम की स्थापना रोमुलस तथा रमेस नामक दो जुडवां भाइयों ने की थी। रोमन कवि विरजिल (virgil) ने भी इससे मिलती-जुलती कहानी अपनी कविता इनीउहद (Aeneid) में बताई है कि ट्रोजन का […]

यूनानी सभ्यता का इतिहास

By Bandey 2 comments

यूनान एक पहाड़ी प्रायद्वीप है, जो पूर्वी भूमध्यसागर पर स्थित है। पहाडी क्षेत्र होने के कारण यहां का एक चौथाई भाग ही कृषि योग्य है। इसका तट चारों तरफ से पहाडियों द्वारा कटा-फटा होने के कारण […]

मिस्र सभ्यता

By Bandey 1 comment

मिस्र को अकसर नील नदी का तोहफा कहते हैं, जो बिल्कुल सही है। हर साल नदी में बाढ़ आती और उसके किनारे जनमग्न हो जाते। वहां गाद की एक मोटी तह जमा हो जाती, जो जमीन […]

मेसोपोटामिया सभ्यता क्या है?

By Bandey No comments

मेसोपोटामिया का शाब्दिक अर्थ है, नदियों के बीच की जमीन। यह दजला और फरात नदियों के बीच स्थित थी और आधुनिक नाम इराक है । इन नदियों मे अक्सर बाढ़ आ जाया करती थी। इस प्रक्रिया […]

ऋग्वैदिक काल का इतिहास

By Bandey No comments

ऋग्वैदिक काल भारतीय संस्कृति के इतिहास में वेदों का स्थान अत्यन्त गौरवपूर्ण है । वेद भारत की संस्कृति की अमूल्य सम्पदा है । आर्यो के प्राचीनतम ग्रन्थ भी वेद ही है । भारतीय संस्कृति में वेदो […]