वुड के घोषणा पत्र की विशेषताएं

भारतीय शिक्षा के प्रवर्तकों में प्रायः ऐसे लोग आते हैं, जिन्होंने भारतवर्ष में रहकर तथा यहां की शैक्षिक परिस्थितियों और आवश्यकताओं की न्यनाधिक जानकारी प्राप्त कर अपने विचारों या कार्यों से उसके विकास में योगदान दिया । किन्तु उसके प्रवर्तकों में एक ऐसा…

सामाजिक स्तरीकरण क्या है? इसकी विशेषताएँ

सामाजिक स्तरीकरण से आशय ऐसे समाज से है, जो विभिन्न स्तरों में विभाजित रहता है उदाहरण के तौर पर हिन्दू समाज का चार वर्गों-ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य एवं शूद्र तथा अलग-अलग जातियों में विभाजन या पश्चिमी समाजों का पूंजीपति एवं सर्वहारा वर्ग में विभाजन सामा…

भू राजनीति क्या है ?

जियो पाॅलीटिक्स (Geopolitics) दो शब्दों से मिलकर बना है (Geo) जियो एंव पाॅलीटिक्स (Polition) । जियों का सम्बध भैगोलिक तत्वों से है एवं पाॅलीटिक्स का सम्बंध राजनीतिक रूचियों से हैं जियोपाॅलीटिक्स शब्द का शाब्दिक अर्थ है देश का सामाजिक राजनीतिक एवं आर्थ…

सिंधु घाटी सभ्यता की विशेषताएं

सिंधु घाटी सभ्यता का उदय 5000 ई. पू. हुआ था। इस घाटी का क्षेत्र नील घाटी तथा टिगरिस दजला-फरात यूफरेटस के क्षेत्रफल से अधिक था। सिंध के लरकाना जिले में खुदाई स्वरूप प्राप्त हुए जिसे मोहनजोदड़ों के नाम से पुकारे जाने वाले एक भव्य नगर के अवशेष प्राप्त हु…

संबंध सूचक अव्यय किसे कहते हैं ?

संबंध सूचक वे अविकारी शब्द है, जो संज्ञा या सर्वनाम के अनंतर प्रयुक्त होता है, और वाक्य में आये हुए अन्य शब्दों के साथ उसका संबंध प्रकट करतें हैं। उदा. 1. सीता घर के बाहर है। 2. बिना मेहनत के सफलता नहीं मिलती। संबंध सूचक के भेद 1. प्रयोग के अनुसार भेद…

नेपोलियन तृतीय की गृह नीति और आर्थिक सुधार

लुई नेपोलियन इस युग के यूरोपीय राजनीतिज्ञो में लुई नेपोलियन सबसे अद्भुत था। उसके जीवन चरित्र तथा उसके साम्राज्य की कथा का उन्नीसवीं शताब्दी के इतिहास में केन्द्रीय स्थान है। लुई नेपोलियन तृतीय का जन्म 1808 में पेरिस में के राजमहल में हुआ था। उसका शैशव…

पाषाणकाल किसे कहते हैं ? पाषाण काल का विभाजन

जिस काल में मानव अपने औजार और हथियार पत्थर के बनाते थे उसे पाषाणकाल कहते हैं।  पाषाण काल का विभाजन उपकरणों की बनावट में भिन्नता के आधार पर पाषाणकाल को तीन भागो में विभाजित किया जाता है- पुरापाषाणकाल मध्यपाषाणकाल नवपाषाणकाल 1. पुरापाषाण युग सम्भवतया…

Load More
That is All