एजेंट किसे कहते हैं?


एजेंट किसे कहते हैं?

 एजेंट किसे कहते हैं? Agent  kise kahte hai वह व्यक्ति जो किसी दूसरे की ओर से कार्य करने के लिए या अन्य व्यक्तियों के साथ व्यवहार में दूसरे का प्रतिनिधित्व करने के लिए नियुक्त किया जाता है, एजेंट कहलाता है। 

वह व्यक्तियों जिसके लिए कार्य अथवा प्रतिनिधित्व किया जाता है, प्रधान (Principal) कहलाता है। एजेंट तथा प्रधान के बीच के सम्बन्ध को ‘एजेंसी’ कहते हैं। दूसरे शब्दों में हम कह सकते है कि एक एजेंट वह व्यक्ति है जिसे दूसरे व्यक्ति की ओर से कार्य करने के लिए नियुक्त किया जाता है तथा जो दूसरे व्यक्ति या व्यक्तियों का प्रतिनिधित्व अन्य पक्षों के साथ करता है। 

इस प्रकार जब मोहित, बनित को 1000 बोरी सीमेन्ट उसकी ओर से क्रय करने के लिए नियुक्त करता है तब मोहित प्रधान एवं बनित एजेंट होता है और इन दोनों के मध्य अनुबन्ध को एजेंसी कहेंगे। इस प्रकार की सभी क्रियाएं को एजेंसी सेवा के अंतर्गत सम्मिलित किया जाता है जो दूसरों की ओर से की जाती हैं। 

Bandey

मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता (MSW Passout 2014 MGCGVV University) चित्रकूट, भारत से ब्लॉगर हूं।

1 Comments

  1. मुझे लगता है आपने इस कंटेंट को कहीं से ट्रांसलेट करके पोस्ट कर दिया है है ना

    क्योकि शब्दों को समझने में काफी दिक्कत हो रही है

    उदाहरण के लिए, गोपाल ने गोबिन्द को अपने एजेंट के रूप में नियुक्त किया और एक निश्चित दुकानदार को उसे उसकी ओर से माल आपूर्ति करने के लिए कहा। गोबिन्द इस दुकानदार से लगातार गोपाल की ओर से माल आपूर्ति करने के लिए कहा। गोबिन्द इस दुकानदार से लगातार गोपाल की ओर से माल क्रय करता रहा। कुछ समय पश्चात गोबिन्द ने गोपाल को एजेंट की सेवाओं से हटा दिया लेकिन इसके बारे में दुकानदार को सूचना नहीं दी। बाद में यदि गोबिन्द दुकानदार से माल खरीदता रहता है तो दुकानदार गोपाल से माल की रकम वसूल कर सकता है। यह बात ध्यान में रखें कि प्रधान को तभी उत्तरदायी बनाया जा सकता है, जबकि एजेंट के कार्य विधिवत हां।े

    ReplyDelete
Previous Post Next Post