ब्लॉग (blog) किसे कहते हैं?

’ब्लाॅग’ वेब ब्लाॅग का संक्षिप्त रूप है, जो अमेरिका में 1977 के दौरान इंटरनेट में प्रचलित हुआ। प्रारंभ में कुछ आनलाइन जर्नलस के ब्लाॅग प्रकाशित किए गए थे जिसमें इंटरनेट के भिन्न क्षेत्रों में प्रकाशित समाचार, जानकारी इत्यादि लिंक होते थे तथा ब्लाॅग लिखने वालों की संक्षिप्त टिप्पणियाँ भी उनमें होती थीं, इन्हें ब्लाॅग कहा जाने लगा। ब्लाॅग लिखने वाले ब्लाॅगर कहलाने लगे। एक ही विषय से संबंधित आंकड़ों एवं सूचनाओं का यह संकलन ब्लाॅग तेजी से लोकप्रिय होता चला गया। आरम्भ में इसे लिखने के लिए एचटीएमएल HTML की आवष्यकता थी किन्तु अब किसी भी भाषा में ब्लाॅग सीधे लिखे जा सकते हैं।

ब्लाॅग इंटरनेट पर निःशुल्क रूप में लिखे जा सकते हैं। इसके द्वारा किसी भी विषय में किसी भी भाषा में अपने विचार व्यक्त किए जा सकते हैं। साहित्य, कथा, कविता आजकल ब्लाॅग पर बहुत लोकप्रिय हो रहे हैं। पाठकों की त्वरित टिप्पणियाँ भी इसमें मिलती हैं, जोकि ब्लाॅग को लोकप्रिय बनाती है। ब्लाॅग नए विचारों के प्रकाशन का सशक्त माध्यम है। उद्योग, वाणिज्य विषय एवं शिक्षा जगत से संबंधित ब्लाॅग भी इंटरनेट पर अपनी उपस्थिति बढ़ा रहे हैं। हिन्दी भाशा में भी ब्लाॅग आरंभ हो चुके हैं।

ब्लॉग किसे कहते हैं ?

ब्लॉग (blog) एक Personal वेबसाइट है जहाँ व्यक्ति अपनी Personal content को एक जर्नल या एक डायरी के रूप में संगठित कर post करता है। ब्लॉग (blog) लिखने वाले लोगों के लिए उनके कार्य, उनकी रूचि के बारे में वर्णन करना सामान्य है और जब कि ब्लॉग (blog) विशेष रूप से एक व्यक्तिगत कार्य है कुछ ऐसे ब्लॉग (blog) हैं जो कुल लोगों के योगदान को जोड़ते हैं। इन्हें समूह ब्लॉग (blog) कहा जाता है।

पहले ब्लॉग (blog) हाथ से सृजित किए गए थे, ब्लॉग (blog) लिखने वाले उपकरणों के आगमन से ब्लॉगिग करना अत्यधिक लोकप्रिय हो गया है। यूजरलैण्ड और लाइव जर्नल आज अधिकांश ब्लॉग (blog) लिखने वाले या तो गूगल के ब्लॉगर  blogger सेवा का उपयोग करते हैं। 

ब्लॉग (blog) एक दूसरे से जुड़े हुए हैं जिसे  “ब्लॉग (blog)स्फीयर” के रूप में जाना जाता है। जुड़ाव का सर्वाधिक सामान्य रूप है ब्लॉग (blog) से एक-दूसरे से जुड़ाव। ब्लॉग (blog) लेखक उन ब्लॉगों की सूची भी पोस्ट करते हैं जिसे वे बार-बार पढ़ते हैं, इस सूची को “ब्लॉग (blog) रोल” के रूप में जाना जाता है। 

ब्लॉग का उपयोग

ब्लॉगिंग लेखन एवं शोध कौशलों के विकास को पोषित करते हैं। ब्लॉगिंग डिजिटल साक्षरता को भी मदद करता है क्योंकि विद्याथ्र्ाी विविध ऑनलाइन संसाधनों का मूल्यांकन एवं विवेचनात्मक रूप से आंकलन करना सीखते हैं।

ब्लागिंग पैसा कमाने का एक बहुत अच्छा माध्यम है। दुनिया में कई ऐसे लोग हैं जो ब्लाॅग लिखने में बहुत रूचि रखते हैं। ऐसे लोगों के लिए इंटरनेट बहुत अच्छा माध्यम है। वे न केवल अपनी इच्छानुसार ब्लाॅग लिख सकते हैं बल्कि इंटरनेट के माध्यम से अपने कार्य को प्रचार तथा प्रसार भी कर सकते हैं। इंटरनेट पर बहुत सारी वेबसाइटें उपलब्ध हैं जो आपको ब्लाॅग लिखने की अनुमति देती हैं। आपको अपनी इच्छानुसार खुद को पंजीकृत करना होता है और यदि आपके ब्लाॅग वास्तव में अच्छे हैं तथा बहुत से लोग आपके ब्लाॅग पर जाते हैं तो निश्चित ही आप बहुत पैसा कमा सकते हैं।

Bandey

मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता (MSW Passout 2014 MGCGVV University) चित्रकूट, भारत से ब्लॉगर हूं।

Post a Comment

Previous Post Next Post