मध्य मस्तिष्क के भाग और उनके कार्य

मस्तिष्क के मध्य भाग को मध्य मस्तिष्क के रूप में जाना जाता है इसका दूसरा नाम मेसनसिफेलोन (mesencephalon) है। इसके दो भाग हैं टेक्टम और टेगमेन्टम। मध्य मस्तिष्क सफेद पथ और रेटीकुलर फोरमेशन से बना है। इसका कार्य मध्य मस्तिष्क और प्रमस्तष्क के बीच आवेगों को प्रसारित करना है। इसमें निम्न कोलीकुली (Inferior Colliculi) होते हैं जो श्रवण केन्द्र के रूप में कार्य करते हैं जबकि श्रेष्ठ कोलीकुली (Superior Colliculli) दृष्टि केन्द्र की तरह कार्य करते हैं। मध्य मस्तिष्क कुछ तंत्रिका प्रतिवत्र्त जैसे कि पैपलरी प्रतिवर्त और ऑंख की गति के लिए उत्तरदायी है।

मध्य मस्तिष्क के भाग

मध्य मस्तिष्क के भाग (madhy mastishk ke bhag) है-
  1. टेक्टम (Tectum)
  2. टेगमेन्टम (Tegmentum)

1 टेक्टम (Tectum)

मध्य मस्तिष्क के शीर्ष भाग को टेक्टम के रूप में जाना जाता है। इसके दोनो तरफ दो कोलीकुली, निम्न कोलीकुली और श्रेष्ठ कोलीकुली है। निम्न कोलीकुली श्रवण सूचनाओं को प्रसारण करता है तथा श्रेष्ठ कोलीकुली दृष्टि मोटर प्रणाली को प्रसारित करता है।

2 टेगमेन्टम (Tegmentum)

टेगमेन्टम मध्य मस्तिष्क के मध्य में स्थित है। इसमें रेटीकुलर फोरमेशन के कुछ भाग सम्मिलित है और कुछ विस्तार जो अग्र मस्तिष्क और पश्च मस्तिष्क के बीच के पथ पर स्थिति है। इसके दो नाभिक है - सबसटेनशिया निग्रा और लाल केन्द्रक। लाल नाभिक मोटर कार्यों में शामिल होता है जबकि सबसटेनशिया निग्रा (काला द्रव्य) डोपामाइन उत्पादित करता है जो पार्किन्सन रोग को रोकता है। दोनों ज्ञानेन्द्रिय तंत्र के लिए महत्वपूर्ण तत्व है। रेटीकुलर फोरमेश्न में काफी संख्या में न्यूरॉन होते हैं जो एक दूसरे से जुड़े हुए होते हैं। यह नेटवर्क कोर्टेक्स, थैलेमस और रीढ़ की हड्डी को सूचना देने के लिए एक मार्ग के रूप में कार्य करता है। यह उत्तेजना, नींद, ध्यान और मांसपेशियों की गतिविधियों को बनाये रखता है।

Comments