पश्च मस्तिष्क के भाग और उनके कार्य

पश्च मस्तिष्क पश्च मस्तिष्क, मस्तिष्क का पिछला भाग होता है जिसमें मेटेनसिफेलोन (Metencephalon) और माइएलेनेसिफेलोन आते है। मेटेनसिफेलोन में सेतु (Pons) और लघुमस्तिष्क (Cerebellum) आते हैं जबकि माइएलेनेसिफेलोन में मेडुला ऑबलागांटा (Medulla oblongata) सम्मिलित होता है।

पश्च मस्तिष्क के भाग

पश्च मस्तिष्क के भाग (pashch mastishk ke bhag) है-
  1. लघु मस्तिष्क (Cerebellum)
  2. सेतु (Pons)
  3. मेडुला ऑबलांगाटा (Medulla Oblongata)

1 लघु मस्तिष्क (Cerebellum)

लघुमस्तिष्क मस्तिष्क का दूसरा सबसे बड़ा भाग होता है जिसे छोटा मस्तिष्क भी कहा जाता है। यह खोपड़ी के आधार पर पोन्स के पीछे और मुख्य भाग के नीचे स्थित है यह मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी तक होता है। लघुमस्तिष्क का आंतरिक सफेद पदार्थ एक पत्ती की नसों की तरह दिखता है। यहाँ पर काफी संख्या मे गहरी रेखायें (Grooves) होती हैं जिसे सल्की (Sulci) और उभरे क्षेत्रों को गायरी (Gyri) की तरह जाना जाता है। लघुमस्तिष्क में लम्बे और छोटे पथ होते हैं जो लघुमस्तिष्क के भीतर और आवेगों को भेजते हैं। सेरीबेलम कंकाल की मांसपेशियों की गति को नियंत्रित कर झटकेदार गति की अपेक्षा सहज, कुशल और समन्वित गति करने में सक्षम करता है। यह शरीर के मुद्रा और संतुलन को बरकरार रखने में मदद करता है। सीखे गये प्रतिवर्त, आदते और कोशल भी इसी क्षेत्र द्वारा बनायें रखे जाते हैं। यदि सेरीबैलम किसी चोट, बीमारी, ट्यूमर आदि से क्षतिग्रस्त होता है तो इसके कारण अनुमस्तिष्क रोग (cerebral disease) हो सकता है जो विशिष्ठ लक्षणों के साथ जुड़ा हुआ है। उदाहरण के लिए गति भंग बिना समन्वय का (Ataxia), व्यक्ति के शरीर के भागों को एक ही तरह से चलाने में समस्या का सामना करना पड़ता है जैसा व्यक्ति चाहता है वैसा नहीं कर पाता। झटके ज्यादा होते हैं, चाल और चलना, में स्थिरता नहीं होती और संतुलन में भी गड़बड़ी आ जाती है।

2 सेतु (Pons)

सेतु में सफेद पदार्थ और रेटीकुलर फॉरमेशन होता है। यह मेडुला के ठीक ऊपर स्थित है। पोन्स का अर्थ है ‘‘पुल’’ और असल में यह लघुमस्तिष्क और मस्तिष्क के ऊपरी भाग के बीच पुल का काम करता है। पोन्स शरीर की सजगता को नियंत्रित करने के लिए कार्य करता है। यह श्वसन को विनियमित करने में सहायता करता है तथा नींद, सपने और उत्तेजना को प्रभावित करता है।

3 मेडुला ऑबलांगाटा (Medulla Oblongata)

मेडुला ऑबलांगाटा आकार में लगभग एक इंच है यह सुषुम्ना के शीर्ष पर स्थित है और मस्तिष्क का सबसे निचला भाग है। इसमें प्रोजेक्शन ट्रेक्ट्स रेटिकुलर फोर्मेशन और सफेद पदार्थ होता है। रेटिकुलर फोर्मेशन का नाभिक नियंत्रण केन्द्रों जैसे हृृदय, वाहका प्रेरक या श्वसन नियंत्रण केन्द्र के रूप में कार्य करता है इसलिए यह जीवन निर्वाह कार्यों को नियंत्रित करता है। मेडुला के अन्य केन्द्र है जो गैर महत्वपूर्ण प्रतिवर्त जैसे कि उल्टी, खांसी, छींक आदि की देखभाल करते है। यह वह स्थान भी हैं जहाँ संवेदी तंत्रिकायें शरीर के बाई और दाई और से आने वाली सूचना की अदला बदली करती है इससे शरीर के दायें तरफ की सूचना मस्तिष्क के बायें तरफ जाती है और शरीर के बायें तरफ की सूचना मस्तिष्क के दायें तरफ जाती है।

Bandey

मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता चित्रकूट, भारत से ब्लॉगर हूं। मैंने अपनी पुस्तकों के साथ बहुत समय बिताता हूँ। इससे https://www.scotbuzz.org और ब्लॉग की गुणवत्ता में वृद्धि होती है।

Post a Comment

Previous Post Next Post