मांग तालिका तथा मांग वक्र क्या है ?

अर्थशास्त्रा में ‘मांग’ शब्द का प्रयोग विशेष अर्थों में किया जाता है। सामान्यतया इच्छा, आवश्यकता तथा माँग शब्दों का प्रयोग एक ही अर्थ में किया जाता है, परंतु अर्थशास्त्र में इन तीनों शब्दों के अर्थ भिन्न होते हैं। इच्छा एक अभिलाषापूर्ण विचार है। यदि आपकी एक रंगीन टी. वी. लेने की इच्छा है परंतु आपवेफ पास पर्याप्त धन नहीं है तो इच्छा या चाहना आर्थिक दृष्टि से वेफवल इच्छा या अभिलाषापूर्ण विचार ही है, माँग नहीं और यदि पर्याप्त धन होते हुए भी आप इसे रंगीन टी. वी. पर खर्च करना नहीं चाहते तो यह इच्छा वेफवल आवश्यकता ही कहलाएगी, माँग नहीं। 

मांग से अभिप्राय एक उपभोक्ता द्वारा अपने दिमाग में बनाई गई उस माँग तालिका से है, जिससे प्रकट होता है कि वह किसी वस्तु की संभव कीमतों पर कितनी मात्रा खरीदना चाहता है। इसके विपरीत माँगी गई मात्रा से अभिप्राय किसी वस्तु की उस निश्चित मात्रा से है जिसे उपभोक्ता एक निश्चित कीमत पर खरीदने का इच्छुक है।

मांग तालिका क्या है

मैकौनल के शब्दों में, ‘‘मांग तालिका वह तालिका है जो एक वस्तु की विभिन्न कीमतों को दर्शाती है और प्रत्येक कीमत पर उस वस्तु की मांगी गई मात्रा को बतलाती है।’’ अन्य शब्दों में, मांग तालिका किसी वस्तु की उन विभिन्न मात्राओं को प्रकट करती है जिन्हें एक उपभोक्ता किसी निश्चित समय में विभिन्न संभव कीमतों पर खरीदने के लिए इच्छुक होता है। 

मांग तालिका के प्रकार

इसके दो प्रकार हैं (1) व्यक्तिगत मांग तालिका और (2) बाजार मांग तालिका। 

1. व्यक्तिगत मांग तालिका - व्यक्तिगत मांग तालिका वह तालिका है जिससे यह प्रकट होता है कि किसी निश्चित समय में एक उपभोक्ता किसी वस्तु की विभिन्न संभव कीमतों पर उसकी कितनी मात्राओं की मांग करेगा। 

2. बाजार मांग तालिका - लीभापफस्की के शब्दों में, ‘‘बाजार मांग तालिका की परिभाषा किसी वस्तु की उन मात्राओं के रूप में दी जाती है जो उस वस्तु के सभी उपभोक्ता किसी निश्चित समय पर सभी संभव कीमतों पर खरीदेंगे।’’। प्रत्येक बाजार में किसी वस्तु जैसे चीनी के बहुत से क्रेता होते हैं। जिस तालिका द्वारा विभिन्न कीमतों पर किसी वस्तु की बाजार में सब क्रेताओं की कुल मांग को प्रकट किया जाएगा, उसे बाजार मांग तालिका कहा जाएगा। 

अन्य शब्दों में, यह किसी निश्चित समय में किसी एक विशेष वस्तु की विभिन्न कीमतों पर सभी उपभोक्ताओं की कुल मांग को दर्शाती है। 

मांग वक्र क्या है ?

‘‘मांग वक्र वस्तु की उन अधिकतम मात्राओं को प्रकट करती है जिन्हें उपभोक्ता समय की एक अवधि में विभिन्न कीमतों पर खरीदेंगे।’’ 

लिप्सी के अनुसार, ‘‘वह वक्र जो कि वस्तु की कीमत और वस्तु की मात्रा, जिसे उपभोक्ता खरीदना चाहता है, में संबंध दिखाता है, मांग वक्र कहलाता है।’’ 

मांग वक्र के प्रकार

मांग तालिका की भाँति मांग वक्र भी दो प्रकार का हो सकता है-(1) व्यक्तिगत मांग वक्र और (2) बाजार मांग वक्र। 

1. व्यक्तिगत मांग वक्र - व्यक्तिगत मांग वक्र वह वक्र है जो किसी वस्तु की विभिन्न कीमतों पर एक उपभोक्ता द्वारा उस वस्तु की मांगी गई मात्रा को प्रकट करता है।

2. बाजार मांग वक्र - बाजार मांग वक्र किसी वस्तु विशेष की विभिन्न कीमतों पर विभिन्न उपभोक्ताओं द्वारा मांगी गई मात्राओं के जोड़ को प्रकट करता है। इस मांग वक्र को व्यक्तिगत मांग वक्रों के समस्त जोड़ द्वारा खींचा जाता है।

Bandey

मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता चित्रकूट, भारत से ब्लॉगर हूं। मैंने अपनी पुस्तकों के साथ बहुत समय बिताता हूँ। इससे https://www.scotbuzz.org और ब्लॉग की गुणवत्ता में वृद्धि होती है।

Post a Comment

Previous Post Next Post