भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के मुख्य उद्देश्य

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद कृषि अनुसंधान के संचालन हेतु एक शीर्ष संगठन है। इसकी स्थापना इम्पीरियल आफ एग्रीकल्चरल रिसर्च के नाम से 1929 में हुई थी। वर्तमान में इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है। कृषि शिक्षा के संबंध में आई.सी.ए.आर. का कार्य यू.जी.सी. के समान ही है। इसके अधीन कई राज्य कृषि विश्वविद्यालय, 4 डीम्ड विश्वविद्यालय और 1 केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय कार्य करते हैं। 

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के मुख्य उद्देश्य

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के मुख्य उद्देश्य इस प्रकार हैं- 
  1. कृषि, कृषि वानिकी, पशु-कृषि कर्म, मत्स्य, गृह विज्ञान आदि में शोध की योजना, आर्थिक सहायता, संवर्द्धन, समन्वय करना तथा इसका अनुप्रयोग करना;
  2. सूचना प्रणाली और प्रकाशन के माध्यम से तकनीकी स्थानांतरण कार्यक्रमों की स्थापना और प्रोत्साहन; 
  3. शिक्षा शोध प्रशिक्षण और सूचना विसरण के क्षेत्र में परामर्श सेवाओं को उपलब्ध कराना और प्रोत्साहित करना; 
  4. भारतीय सामाजिक विज्ञान और शोध अनुसंधान परिषद, वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद, भाभा परमाणु शोध केन्द्र एवं विश्वविद्यालय जैसे अन्य संगठनों के साथ सहयोगी कार्यक्रमों का विकास करके पोस्ट 18 हार्वेस्ट तकनीक सहित कृषि से जुड़े ग्रामीण विकास के व्यापक क्षेत्रों की समस्याओं पर ध्यान केन्द्रित करना।

Bandey

मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता (MSW Passout 2014 MGCGVV University) चित्रकूट, भारत से ब्लॉगर हूं।

Post a Comment

Previous Post Next Post