मल्टीमीडिया के तत्व और उपकरण कौन कौन से हैं ?

मल्टीमीडिया (Multimedia) शब्द का प्रयोग सबसे पहले बाॅब गोल्ड स्टीन (Bob Gold Steen) के द्वारा सन् 1996 में किया गया था। 

मल्टीमीडिया के तत्व

मल्टीमीडिया (Multimedia) के कई तत्व है। इन सभी तत्वों को एक साथ-साथ या अलग-अलग प्रयोग किया जा सकता है। मल्टीमीडिया के प्रमुख तत्व है-

1. टेक्स्ट (Text) : टेक्स्ट फाइल्स साइज़ में बहुत छोटी होती है। जिससे उनका प्रयोग मल्टीमीडिया प्रर्दशन में ज्यादा में किया जाता है। उन्हें अपडेट व एडिट करना बहुत ही आसानी से व जल्दी किया जा सकता है। मल्टीमीडिया प्रर्दशन के लिए टेक्स्ट को रंगीन या सुंदर फाॅन्ट में चित्रों एवं विडियो के साथ भी प्रयोग किया जा सकता है।

2. इमेज (Image) : इन्हें डिजिटल कैमरा या स्कैनर या किसी अन्य इमेजिंग Device के माध्यम से प्रयोग में लाया जाता है। यह साधारण चित्र, या डिजिटल फोटोग्राफ हो सकते हैं। Digital Images की फाइल्स कई तरह के फाइल extension के साथ मल्टीमीडिया कार्य के लिए प्रयोग की जाती है जैसे कि JPEG, PNG, Bitmap, Gif etcA। Image कलर और balck /white  दोनों आसानी से प्रयोग किये जा सकते हैं।

3. आडियो (Audio) : Audio का प्रयोग MP3, WMA, M1D1 इक्सटेन्सन के साथ प्रयोग किया जाता है। आडियो मशीन जैसे Audio Recorder & Audio Player Sound Multimedia Files के प्रयोग के लिए आवश्यक Device है। इनका प्रयोग अन्य विडियो व Text के साथ किया जा सकता है।

4. विडियो (Video) : विडियो को सबसे ज्यादा वर्तमान समय में प्रयोग किया जा रहा है। इन्हें प्रयोग करने के लिए विडियो मीडिया प्लेयर की आवश्यकता होती है। Windows Media Player एवं VLC  Media Player प्रमुख मीडिया प्लेयर है।

5. ग्राफिक्स (Graphics) : ग्राफिक्स का अर्थ है Computer Aided Design  इमेज को कम्प्यूटर की सहायता से मनचाहा डिजाइन जैसे backgrund, border, color change करके तैयार किया जाता है। इस कार्य के लिए कम्प्यूटर ग्राफिक्स प्रोग्राम की जरूरत होती है। ग्राफ, चित्र, मैप, प्रतीक चिन्ह को किसी भी इमेज के साथ जोड़ा व हटाया जा सकता है। इनका प्रयोग सबसे ज्यादा प्रचार, मार्केटिंग आदि के क्षेत्र में किया जाता है।

6. एनीमेशन (Animation) : एनीमेशन की सहायता से चित्रों, ग्राफ, ध्वनि व टेक्स्ट को एक साथ प्रयोग करके शिक्षा, मनोरंजन, व्यापार एवं के क्षेत्र में प्रयोग में लाया जाता है। एनीमेशन का सबसे प्रचलित प्रोग्राम फ्लैश है। Dreamweaver एवं Director अन्य एनीमेशन साफ्टवेयर है। एनीमेशन फाइल्स का प्रयोग 2D व 3D में किया जा सकता है। कार्टून फिल्मों के निर्माण में एनीमेशन का बहुत प्रयोग किया जा रहा है। इन्हें पढ़ने के लिए या प्रयोग करने के लिए फ्लैश प्लेयर जैसे साफ्टवेयर प्रोग्राम की आवश्यकता होती है।

मल्टीमीडिया के उपकरण

मल्टीमीडिया (Multimedia) को उपयोग करने के लिए इन उपकरणों का प्रयोग किया जाता है-

  1. स्कैनर
  2. कैमरा
  3. आडियो डिवाइस
  4. कैमकार्डर
  5. मल्टीमीडिया प्रोजेक्टर
  6. कम्प्यूटर
1. स्कैनर - स्कैनर का प्रयोग प्रिंट दस्तावेजों जैसे चित्र, टेक्स्ट, पेन्टिंग्स को डिजिटल माध्यम में परिवर्तन करने हेतु किया जाता है। 

2. डिजिटल कैमरा - डिजिटल कैमरे का प्रयोग फोटो खीचने व विडियो रिकार्ड करने के लिए किया जाता है। डिजिटल कैमरे से फोटो व विडियो दोनों को कम्प्यूटर, टेबलेट, डेक्सटाॅप, मोबाइल से जोड़ा जा सकता है व मेमोरी कार्ड मे इन्हें Save भी किया जा सकता है। 

3. आडियो डिवाइस - आडियो डिवाइस का प्रयोग ध्वनि फाइल्स के लिए किया जाता है। इनका प्रयोग न केवल आडियो फाइल्स को सुनने के लिए किया जाता है बल्कि रिकार्ड करने के लिए भी किया जाता है।  कई तरह के स्पीकर एवं हेडफोन उपकरणों का प्रयोग भी आडियो डिवाइस के रूप में किया जाता है। वर्तमान समय की आडियो उपकरणों को कम्प्यूटर, टेबलेट, मोबाइल से जोड़ा जा सकता है व रिकार्ड किया जा सकता है।

4. कैमकार्डर - कैमकार्डर एक हैवीड्यूटी विडियो रिकार्डर उपकरण है जिसका प्रयोग लाइव कार्यक्रमों को रिकार्ड करने व रिकार्ड की गयी विडियो को देखने के लिए किया जाता है। 

5. मल्टीमीडिया प्रोजेक्टर - प्रोजेक्टर को मल्टीमीडिया प्रोजेक्टर के नाम से भी जाना जाता है। इसका प्रयोग किसी समतल दीवार या माध्यम में डिस्प्ले के लिए किया जाता है। यह कम्प्यूटर/लैपटाॅप आदि की स्क्रीन पर चल रही सूचना को सीधे अन्य स्क्रीन पर दिखाता  है। 

6. कम्प्यूटर - कम्प्यूटर का प्रयोग किसी भी मल्टीमीडिया को प्रयोग करने, एडिट, प्रसारित, , निमार्ण, करने, संग्रह करने तथा अन्य काम के लिए किया जाता है। 

Bandey

मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता (MSW Passout 2014 MGCGVV University) चित्रकूट, भारत से ब्लॉगर हूं।

Post a Comment

Previous Post Next Post