दाद खाज खुजली के घरेलू उपाय और दाद खाज खुजली होने के कारण

दाद खाज खुजली एक बहुत आम बीमारी है, जो किसी को भी हो सकती है। इस रोग में एक परतदार स्किन पर गोल और लाल चकत्ते पड़ जाते है। इस समस्या को नजरअंदाज किया जाए तो आगे चलकर यह एक्जिमा का रूप ले लेती है। बदलते मौसम में दाद खाज खुजली की समस्या हो जाती है। इस समस्या से पुरुषों के साथ-साथ महिलाएं भी काफी परेशान रहती हैं। इतना ही नहीं यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में आसानी से फैल भी सकती है। जिसमें अधिक खुजली के साथ-साथ जलन भी होती है। खुजली में इन्सान अपने उपर काबू नहीं रख पाता और बस लगातार खुजली करता रहता है। 

दाद खाज खुजली
दाद खाज खुजली
दाद खाज खुजली

दाद खाज खुजली होने के कारण

दाद खाज खुजली होने के तो वैसे बहुत से कारण हो सकते हैं, लेकिन कुछ प्रमुख कारण नीचे दिए गए हैंः
  1. किसी चीज से एलर्जी 
  2. किसी कीड़े का काट लेना जिससे उसका डंक शरीर में रह जाता है 
  3. स्किन इन्फेक्शन
  4. रुखा सूखा सा मौसम 
  5. किसी गलत साबुन का इस्तेमाल 
  6. किसी दवा से एलर्जी 
  7. तनाव द सूखी त्वचा 
  8. धुप की वजह से 
  9. फफूंद संक्रमण

दाद खाज खुजली होने पर सावधानियाँ

  1. खुजली होने पर साफ सफाई का विशेष ध्यान दें। 
  2. नियमित रूप से अपने शरीर को साफ करें व साफ सुथरे कपड़े ही पहने। 
  3. साबुन का कम से कम उपयोग करें। अगर करते भी हैं, तो माइल्ड साबुन का उपयोग करें। 
  4. जब खुजली हो तो हाथ से न खुजाएँ, बल्कि एक साफ सॉफ्ट कपड़े से उस जगह पर हल्के हाथ से सहलाएं।

दाद खाज खुजली के घरेलू उपाय

इस समस्या से निजात पाने के लिए लोग तरह-तरह के प्रोडक्ट का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन आपको बता दें कि घर पर मौजूद कुछ चीजों का इस्तेमाल करके आप आसानी से दाद खाज खुजली की समस्या से कुछ ही दिनों में छुटकारा पा सकते हैं।

1. नारियल तेलः त्वचा संबंधी हर समस्या से निजात दिलाने के लिए नारियल तेल सबसे उपयुक्त उपाय है। इसे दिन में कई बार प्रभावित जगह पर लगाएं।

2. नीमः नीम की पत्ती एंटीसेप्टिक होती है और शरीर में होने वाले संक्रमण से हमें बचाती है। नीम शरीर को सभी तरह के कीटाणु से बचाती है। नीम की पत्तियां पीस कर पेस्ट बनाएं और इसे खुजली वाले स्थान पर कुछ देर लगाएं। फिर धो लें, खुजली से बहुत आराम मिलेगा। इसके अलावा नीम के तेल को भी खुजली वाले स्थान पर लगाकर खुजली से छुटकारा पाया जा सकता है। नीम के पत्तियों को पानी में उबालें, अब इस पानी को थोडा ठंडा कर इससे नहायें। बहुत जल्द खुजली गायब हो जाएगी।

3. एलोवेराः एलोवेरा एंटीबैक्टीरियल होता है। इसमें विटामिन-ई होता है, जो स्किन को मोस्चराइज करता है और खुजली को कम करता है। एक एलोवेरा की पत्ती से उसका जेल निकाल लें। अब इस जेल को खुजली वाले स्थान पर लगाएं। 15 मिनट बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें। इस आसान से उपचार को दिन में 1 बार जरुर करें। इसके अलावा 1 चम्मच एलोवेरा जेल में 2 चम्मच ग्रीन क्ले मिलाकर पेस्ट बना लें। इसे खुजली वाले जगह पर लगाएं और सूखने दें फिर धो लें। दिन में एक बार रोज इसे करें। इसके अलावा आप रोज सुबह एलोवेरा जूस पियें। खुजली नहीं होगी।

4. हल्दीः हल्दी एंटीबायोटिक मानी जाती है। हल्दी और पानी का पेस्ट बना लें और रुई की मदद से प्रभावित जगह पर लगा लें। इससे आपको लाभ मिलेगा।

5. नींबूः नींबू का प्रयोग खुजली दूर करने के लिए भी किया जाता है। नींबू में साइट्रिक एसिड होता है, जिस वजह से यह एंटीसेप्टिक की तरह कार्य करता है। 1-2 नींबू का रस निकाल लें। अब एक कॉटन की मदद से खुजली वाले स्थान पर इसे लगाएं। अब इसे कुछ देर सूखने दें, फिर गुनगुने पानी से धो लें। दिन में इसे 2 बार करें, जब तक आपको आराम न मिलें। इसके अलावा नींबू के रस में अलसी का तेल मिलाकर लगाएं। खुजली दूर हो जाएगी। यदि आपकी स्किन संवेदनशील है, तो यह तरीका ना अपनाएं।

6. लहसुनः लहसुन में अजोइना नामक नैचुरल एंटी फंगल एजेंट पाया जाता है। जिसका इस्तेमाल करके आप आसानी से दाद खाज की समस्या से निजात पा सकते हैं। इसके लिए लहसुन को स्लाइस में काटकर प्रभावित जगह पर रखें और ऊपर से पट्टी बांध लें। रात भर ऐसे ही बांधा रहने दें।

7. तुलसीः तुलसी से अच्छा आयुर्वेदिक उपचार और क्या हो सकता है। खुजली के उपचार के लिए यह सबसे अच्छा नेचुरल उपचार है। तुलसी में मौजूद तत्व खुजली जैसी बीमारी को झट से दूर कर देते है। कुछ तुलसी की सुखी पत्तियां लें और उसे 2 कप पानी में डालकर उबालें। इसे कुछ देर ढक दें और ठंडा होने दें। अब कॉटन की मदद इसे खुजली वाले स्थान पर लगाएं। बचे हुए पानी को ढककर रख दें और अगली बार उपयोग करें।

जब भी आपको खुजली का दौरा पड़े, आप इसे लगाएं। बहुत आराम मिलेगा। इसके अलावा तुलसी की पत्तियों को मसल कर खुजली वाले स्थान पर लगाएं। कुछ देर सूखने दें फिर गुनगुने पानी से धो लें। जितने बार आपको खुजली महसूस हो इसे लगाएं। खुजली से जल्द आराम मिलेगा।

8. ठंडा पानी या बर्फ जहाँ भी खुजली हो वहाँ ठंडा पानी डालें या बर्फ को एक कपड़े में लपेटकर प्रभावित स्थान पर रखें। ठन्डे पानी या बर्फ से खुजली में बहुत आराम मिलता है।

9. बेकिंग सोडाः बेकिंग सोडा खुजली में बहुत कॉमन उपचार है। बेकिंग सोडा लगाने से खुजली में बहुत आराम मिलता है। बाथ टब में ठंडा पानी भरें, फिर इसमें 1 कप सोडा मिलाएं। अब टब में करीब 1/2 घंटे तक बैठे रहें। निकलने के बाद टॉवल से शरीर को ना घिसें, बल्कि सॉफ्ट कपड़े से हल्का पोछें। हो सके तो बॉडी को खुद सूखने दें। कुछ दिन ऐसा रोज करें। इसके अलावा आप 3 चम्मच सोडा लें व उसमें 1 चम्मच पानी मिला कर पेस्ट बना लें। अब जहाँ भी आपको खुजली होती है वहाँ ये पेस्ट लगाएं और 10 मिनट लगे रहने दें। फिर धो लें। दिन में एक बार कुछ दिन तक ऐसा करें।

10. विनेगरः एप्पल साइडर विनेगर एंटीसेप्टिक और एंटी-इचिंग होता है। इसे लगाने से खुजली में बहुत जल्द आराम मिलता है। बाथ टब में ठंडा पानी भर कर उसमें 2-3 कप विनेगर मिलाएं। अब 15-30 मिनट तक इस पानी में बैठें। इसके बाद शरीर को सुखाकर मोस्चराइजर लगा लें। जब तक आराम न मिले ऐसा रोज करें। इसके अलावा आप थोड़ा सा विनेगर लेकर रुई की सहायता से खुजली वाले स्थान पर लगाएं। 1 घंटे लगे रहने दें फिर धो लें। दिन में 2 बार करें जब तक आराम न मिले। 

11. अजवाइन के फूल: अजवाइन के फूल खुजली को दूर करने में यह बहुत सहायक होते हैं। अजवाइन के फूल को 2 कप पानी में डालकर उबालें। इसे ढककर ठंडा होने दें। अब इसे छानकर रुई की मदद से खुजली पर लगाएं। इसे जितनी बार हो सके लगाएं।

12. पिपरमेंट तेलः पिपरमेंट एंटीसेप्टिक होता है। खुजली के समय होने वाली जलन को यह शांत करता है। बाथ टब को गुनगुने पानी से भरें और उसमें पिपरमेंट तेल की कुछ बूंदे डालें। अब इस पानी में 1 घंटे बैठें। शरीर सुखाकर मोस्चराइजर लगाएं। कुछ दिन रोज ऐसा करें। इसके अलावा पिपरमेंट तेल की कुछ बूंदे नारियल तेल, ओलिव तेल या बादाम के तेल में डाल कर खुजली पर लगाएं। अब कुछ देर मसाज करें जिससे तेल स्किन में अच्छे से लग जाए। दिन में 2 बार ऐसा करने से बहुत जल्द खुजली से आराम मिलेगा।

13 . करेलाः करेला का जूस और गुलाबजल को मिलाकर प्रभावित जगह पर लगा लें। इससे आपको तुरंत लाभ मिल जाएगा।

खुजली के लिए सबसे अच्छा है कि आप शरीर को कभी रुखा और बेजान न होने दें। शरीर को नमी देने के लिए इसकी क्रीम या तेल से समय-समय पर मालिश करते रहें। सूखी त्वचा में ज्यादा खुजली होती है। अब जब भी आपको या आपके घर में किसी को दाद खाज खुजली हो तो ये उपचार अपनाएं। इससे आपको आराम मिलेगा।

Bandey

मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता (MSW Passout 2014 MGCGVV University) चित्रकूट, भारत से ब्लॉगर हूं।

Post a Comment

Previous Post Next Post