गसोता महादेव मंदिर हमीरपुर (हिमाचल प्रदेश) का परिचय

गसोता महादेव मंदिर हमीरपुर हिमाचल के हमीरपुर जिला के गसोता नामक गाँव में स्थित है जो की जिला हमीरपुर मुख्यालय से 15 किलोमिटर की दूरी पर स्थित है। इस मंदिर में स्थापित शिवलिंग हजारों साल पुराना है। इस मंदिर में श्रद्धालु देश भर से शिवलिंग की पूजा करने के लिए आते है। गसोता महादेव का पवित्र नाम पुराणों में पांडव काल से जुड़ा हुआ है। पुराणों के अनुसार पांडवों ने अज्ञातवास के दौरान गसोता महादेव मंदिर में कुछ समय व्यतीत किया था जिसके चलते लोगों में आज भी आस्था कूट कूट कर भरी है।

इस मंदिर की स्थापना के बारे में कहा जाता है की एक बार इसी गाँव का एक किसान अपने खेत में हल जोत रहा था उस दौरान हल किसी वस्तु से टकराया तो वहाँ से जलधारा निकली। बाद में हल जब दोबारा टकराया तो वहाँ से दूध निकला फिर जब तीसरी बार जब हल टकराया तो खून निकलना शुरू हो गया और उसी समय किसान की आँखों की रोशनी चली गई। बाद में किसान को आए हुए सपने के अनुसार वहाँ पर शिवलिंग निकल और उस जगह पर मंदिर को स्थापित करने के लिए कहा। ग्रामीणों के सहयोग से किसान ने वहाँ शिवलिंग स्थापित किया आर अपनी आँखों की रोशनी मांगी और उसकी मनोकामना पूरी हुई। आज भी शिवलिंग पर हल के टकराने के निशान है।

Bandey

मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता (MSW Passout 2014 MGCGVV University) चित्रकूट, भारत से ब्लॉगर हूं।

Post a Comment

Previous Post Next Post