गुटखा खाने से कौन कौन से नुकसान होते हैं?

गुटखा पिसी सुपारी, कत्था, तम्बाकू, चूना और मीठा का मिश्रण है। सुपारी में उत्तेजक और क्षारीय यौगिक होते हैं। तम्बाकू में निकोटीन के उत्तेजक गुण होते हैं इसलिए इसे सुपारी के साथ प्रयोग में लाया जाता है। चूना एक क्षारीय पदार्थ है जिसका खाद्य उद्योग में इस्तेमाल किया जाता है। सुपारी कत्था और तम्बाकू में मौजूद क्षारीय पदार्थ के अवशोषण के लिए चूने में मिलाया जाता है।

गुटखा तंबाकू खाने के नुकसान

gutka tambaku khane ke nuksan, गुटखा खाने से कौन कौन से नुकसान होते हैं?
  1. दाँतों और मसूड़ों को नुकसान 
  2. मुख का कम खुलना
  3. जोड़ों का दर्द
  4. पौष्टिक आहार की कमी
  5. हल्का दर्द
  6. सिरदर्द

1. दाँतों और मसूड़ों को नुकसान 

दाँतों में गन्दा भूरा रंग चढ़ जाता है जिसे निकालना बहुत मुश्किल होता है। बराबर चबाने की वजह से दांत घिस भी जाते हैं जिससे उनमें निरंतर दर्द रहता है। गुटखा में मौजूद रासायनिक पदार्थ नुकसान पहुंचाते हैं और दांतों के बचाव में सक्षम नहीं रहते जिससे दाँतों में झनझनाहट की समस्या होती है ।

2. मुख का कम खुलना

गुटखा से मुख पर्याप्त रूप से नहीं खुलता। इस स्थिति को ओरल सब म्यूकस फाइब्रोसिस कहते हैं। कुछ लोग गुटखा मुँह में लेकर सो जाते हैं जिसके फलस्वरूप मरीज को बोलने और निगलने में मुश्किल होती है। गालों में जलन की समस्या भी आती है।

3. जोड़ों का दर्द 

कान के सामने एक जोड़ होता है जो निचले जबड़े को सर से जोड़ता है। लगातार चबाने की वजह से इन जोड़ों को आराम नहीं मिलता एवं इनमें दर्द होने लगता है।

4. पौष्टिक आहार की कमी

मुँह में गुटखा के साथ भोजन ठीक से खाना नहीं हो पाता और गुटखा के उपयोगकर्ता खाद्य पदार्थो की उपेक्षा करते हैं जिससे पौष्टिक आहार की कमियाँ उत्पन्न होती हैं।

5. हल्का दर्द

मांसपेशियों में बढ़त की वजह से नीचे वाले जबड़े में असुविधा होती है। टेम्पोरेलीस नामक मांसपेशी में बढ़त की मांसपेशियों में खिचाव- मुख की मांसपेशियां जो चबाने में सहायक होती हैं, गुटखा उपयोगकर्ता में इन मांसपेशियों में अतिवृद्धि होती है जिसकी कभी-कभी मुख के सर्जन द्वारा सर्जरी भी करनी पड़ती है।

6. सिरदर्द

गुटखे के अस्थायी आनंद का उपयोगकर्ता आदी हो जाते हैं। जिसके वजह से नीचे वाले जबड़े में असुविधा होती है। टेम्पोरेलीस नामक मांसपेशी में बढ़त की वजन से सिरदर्द की शिकायत भी हो सकती है।

Bandey

मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता (MSW Passout 2014 MGCGVV University) चित्रकूट, भारत से ब्लॉगर हूं।

Post a Comment

Previous Post Next Post