Advertisement

भू-आकृति विज्ञान किसे कहते हैं ?

भू-आकृति विज्ञान किसे कहते हैं

भू-आकृति विज्ञान के अंतर्गत पृथ्वी के धरातल पर पाये जाने वाले स्थलीय रूपों यानि स्थलाकृतियों की उत्पत्ति, उनके विकास का वैज्ञानिक अध्ययन किया जाता है । भू-आकृति विज्ञान, जिसे ग्रीक भाषा में जियोमॉर्फोलॉजी (Geomorphology) कहते हैं, का अर्थ है पृथ्वी के रूप का विवरण । भू-आकृति विज्ञान, पृथ्वी के रूप का सुव्यवस्थित और क्रमबद्ध विवरण है । इसमें हम मुख्य रूप से स्थलरूपों का अध्ययन करते हैं । भू-पटल के स्थलरूप तथा सागरीय तल के विभिन्न रूपों, उनकी उत्पत्ति आदि की व्याख्या का अध्ययन करते हैं । यहाँ पृथ्वी या भूपटल के प्रमुख उच्चावच यानि महाद्वीप, महासागर, पर्वत, पठार, मैदान इत्यादि भी इसमें सम्मिलित हैं । 

उपरोक्त सभी की उत्पत्ति तथा व्याख्या तभी संभव है, जब हमें पृथ्वी की संरचना, चट्टनों की बनावट, ट्टतुक्षरण तथा अपरदन की प्रक्रियायें, पटल-विरूपण ज्वालामुखी क्रिया, प्लेट विवर्तनिकी, महाद्वीपीय विस्थापन इत्यादि का ज्ञान हो, क्योंकि पृथ्वी का घरातलीय रूप इन्हीं तत्वों से प्रभावित और परिवर्तित होता रहता हैं । 

अतः उपरोक्त सभी विषयों का अध्ययन भू-आकृति विज्ञान के अंतर्गत किया जाता है । 

Bandey

मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता (MSW Passout 2014 MGCGVV University) चित्रकूट, भारत से ब्लॉगर हूं।

1 Comments

  1. I'm a student of M.A in Markham college of commerce h.bag
    Contact me from Hzb student 6202404891

    ReplyDelete
Previous Post Next Post