शैक्षिक समाजशास्त्र

शैक्षिक समाजशास्त्र के उद्देश्य, क्षेत्र, महत्व, शिक्षा पर प्रभाव

शिक्षा के प्रति रुचि उत्पन्न हो जाने से समाजशास्त्र की एक नई शाखा कुछ ही वर्षों में विकसित की गई है, जिसे शैक्षिक समाजशास्त्र की संज्ञा दी जाती है। दूसरों शब्दों में भी कहा जा सकता है कि यह विज्ञान समाजशास्त्र का एक ऐसा अंग है जो शिक्षा एवं समाजशास्त…

Load More
That is All